Header Ads Widget

Responsive Advertisement

बिहार का सबसे ऊंचा शिवलिंग-Araria me ghumne ki jahah


अगर आप भी घूमने का शौकीन रखते हैं और घूमने के लिए  अररिया की सबसे फेमस जगह तलाश करते हैं या फिर अररिया में घूमने की जगह आप खोज रहे हैं. तो हम आपको अररिया के अच्छे-अच्छे जगह के बारे में बताएंगे जहां पर आप घूम सकेंगे. Araria me ghumne ki jagah.

अररिया जिला बिहार के 38 जिलों में से सबसे महत्वपूर्ण जिला माना जाता है. क्योंकि यह जिला नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्र से जुड़ी हुई है. और यहां के लोगों का पड़ोसी देश नेपाल तक आना जाना लगा रहता है. 


इतना ही नहीं लोग घूमने के लिए पड़ोसी देश नेपाल का भी सफर करते हैं. और यहां पर लोग काफी खुश रहते हैं क्योंकि यहां के लोग सीमावर्ती क्षेत्र में रहने के बावजूद यहां के लोग पास के "मार्केट जोगबनी बाजार" मैं भी अच्छे-अच्छे जगह एवं नए-नए ब्राइटी का लाभ उठाते हैं. 


इतना ही नहीं नेपाल के भी लोग हमारे देश इंडिया में घूमना पसंद करते हैं. और हर साल नेपाल से लोग घूमने आते हैं. इसलिए लोग "नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्र अररिया" जिले में घूमना पसंद करते हैं. इस सीमावर्ती क्षेत्र अररिया के लोग पड़ोसी देश नेपाल का भी सफर करना पसंद करते हैं.


Araria me ghumne ki jagah- अररिया में घुमने की जगह

अररिया में सबसे सुंदर घूमने की जगह, अररिया का सबसे अच्छा जगह और अररिया के सबसे फेमस जगह. अररिया के काली मंदिर, अररिया के कुसियरगांव डायवर्सिटी पार्क, सुंदर नाथ धाम एवं अन्य जगह मौजूद है जिसके बारे में बताएंगे.


अररिया जिला प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार फणीश्वरनाथ रेणु जी का कर्मभूमि वर्षों से रहा है. क्योंकि यहां पर लोगों में ज्ञान  कूट-कूट कर भरी रहती है. और रेणु जी के इस धरती पर घूमने का भी काफी सुंदर जगह है. जहां पर लोग दूर-दूर से घूमने आते हैं.


अररिया में विश्व का ऊँँची खड़़गेेश्वरी काली मंदिर हैं. और यहां पर दूर-दूर से लोग घूमने के लिए आते हैं अगर आप भी घूमने का सोच रहे हैं तो आप अररिया के "काली मंदिर" के प्रांगण में घूमने के लिए एक बार जरूर आयें क्योंकि इस मंदिर की सुंदरता लोगों को खूब लुभाती है.


अररिया जिला में बिहार का सबसे ऊंचा शिवलिंग स्थित है. जो कि अररिया जिला के मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर बिहार का सबसे ऊंचा शिवलिंग है जिसे लोग सुंदर नाथ धाम के नाम से जानते हैं और यहां पर प्रत्येक दिन हजारों हजार की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है. 


अगर आप अररिया में घूमने की सोच रहे हैं तो सबसे ऊंचा शिवलिंग का दर्शन अवश्य करें. क्योंकि महाभारत के समय में यहां पर पांचो पांडव ने इस शिवलिंग का छुप छुप कर पूजा करते थे क्योंकि जब पांडव अज्ञात वास के दौरान विराट राजा के दरबार में छुप छुप कर रहते थे तब सुंदरनाथ धाम के इस शिवलिंग का पांचो पांडव मिलकर पूजा करते थे.


अररिया में घूमने का सबसे अच्छा जगह "पार्क कुसियारगाँव"

अगर आप पार्क और बच्चों एवं बड़ों के लिए अच्छे-अच्छे मनोरंजन एवं बच्चों के खेल कूद के लिए जगह की खोज या फिर पार्क जैसे जगह की घूमने का शौकीन हैं.  


तो अररिया के इस डायवर्सिटी पार्क मैं घूमने अवश्य जाए क्योंकि यहां पर बच्चों से लेकर बड़ों तक के मनोरंजन के लिए काफी अच्छे-अच्छे जगह बनाए गए हैं जहां पर आप घूम कर एक सुकून की आराम पा सकते हैं क्योंकि यहां पर प्रतिदिन लोगों की संख्या बढ़ती रहती हैै. और लोग दूर-दूर से घूमने के लिए आते हैं. यह पार्क अररिया जिला के कुसियरगांव में स्थित है जिसे कुसियरगांव डायवर्सिटी पार्क के नाम से जाना जाता है.


अररिया के सबसे अच्छा पर्यटन स्थल जो कुछ यार गांव डायवर्सिटी पार्क है क्योंकि यहां पर पर्यटन की संख्या रोज के रोज बढ़ती रहती है और यह डायवर्सिटी पार्क होशियार गांव अररिया जिला के मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर स्थित है अगर आप इस पर्यटन स्थल पर घूमने के लिए जाना चाहते हैं तो यह डायवर्सिटी आपके लिए सबसे अच्छा हो सकता है.


डायवर्सिटी पार्क लगभग अररिया जिला के मुख्यालय से कुछ ही दूरी यानी कि 10 किलोमीटर दूरी पर स्थित है यहां पर दूर-दूर से लोग घूमने के लिए आते हैं. और अगर आप nh57 से होकर इस पर्यटन स्थल पर जाना चाहते हैं तो nh57 से आपको स्पष्ट दिखाई देगी अररिया के इस डायवर्सिटी पार्क.


इस डायवर्सिटी पार्क की दूरी लगभग फारबिसगंज से 30 किलोमीटर है जहां पर जोगबनी फारबिसगंज के लोग घूमने के लिए आते हैं.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ